Skip to main content

सच् छुपता नहीं छुपाने से

आखिर सच को कितनी देर तक छिपाऐ रखा जा सकता है । वह  एक न एक दिन बाहर आ ह जाता हैं। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के चीफ दूर्रानी ने आखिरकार मान ही लिया कि मुम्बई मे हमले पाकिस्तान द्वारा ही कराऐ गऐ थे। वो पाकिस्तानी ही थे।