शायद इसकी यह प्रथा खत्म हो जाऐ

सपा सरकार अब तक बीटीसी के लिऐ मेरिट के आधार पर ही चयन कराती थी जिसमें नकल के द्वारा उच्च प्रतिशत पाने वालों का बोलबाला था और पढ़ लिखकर परीक्षा देने वाले जिनका प्रतिशत कम होता हैवह इससे वंचित रह जाते हैं। अब जब नई सरकार आई हे तो उम्मिद है लिखित परीक्षा के द्वारा बीटीसी विद्यालयों में प्रवेश होगा और सपा सरकार की इस प्रथा का अन्त होगा।

Comments

Popular posts from this blog

उत्तर प्रदेश की प्रमुख फसलें कौन-कोन सी हैं

जेट-प्रवाह ( Jet Streams ) क्या है

विभिन्न देशों के राष्ट्रीय पशु