मौर्य वंश से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य

चन्द्रगुप्त मौर्य मौर्य वंश का संस्थापक था। जिसका जन्म 345 ईसा पूर्व हुआ था।
• चन्द्रगुप्त मौर्य मगध की गद्दी पर 322 ईसा पूर्व बेठा था।
• चन्द्रगुप्त मौर्य जैनी धर्मगुरू भद्रबाहू से जैन धर्म की दीक्षा ली। यानी चन्द्रगुप्त जैन धर्म का अनुयायी था।
मेगास्थनीज चन्द्रगुप्त मौर्य के दरबार में सेल्यूकस निकेटर का राजदूत था।
• 305 ईसा पूर्व में चन्द्रगुप्त ने सेल्यूकस निकेटर को हराया।
• चन्द्रगुप्त मौर्य और सेल्यूकस निकेटर के बीच हुऐ युद्ध का उल्लेख " एपियानस " ने किया था।
• मेगास्थनीज ने " इंडिका " नामक पुस्तक लिखी जो मौर्य वंश से संबंधित था।
• चन्द्रगुप्त मौर्य की मृत्यु 298 ईसा पूर्व हुआ।
• चन्द्रगुप्त मौर्य ने अपना अंतिम समय कर्नाटक के श्रवणबेलगोला नामक स्थान पर बिताया।
• चाणक्य चन्द्रगुप्त मौर्य का प्रधानमन्त्री था।
• चाणक्य ने चन्द्रगुप्त मौर्य की घनानन्द को हराने में मदद की थी।
• चाणक्य को कौटिल्य अथवा विष्णुगुप्त के नाम से भी जानते हैं।
• चाणक्य ने अर्थशास्त्र नामक पुस्तक लिखी जोकि राजनीति से संबंधित है।
• जस्टिन ने चन्द्रगुप्त मौर्य को सेन्ड्रोकोट्स कहा।

Popular posts from this blog

उत्तर प्रदेश की प्रमुख फसलें कौन-कोन सी हैं

जेट-प्रवाह ( Jet Streams ) क्या है

विभिन्न देशों के राष्ट्रीय पशु