Skip to main content

स्वामी विवेकानन्द के 10 अनमोल विचार


नमस्कार दोस्तों !!

यहाँ हम स्वामी विवेकानन्द के कुछ ऐसे अनमोल विचार रख रहे हैं  जो हम सभी को प्रेरणा देती है।


1•  "  उठो , जागो और तब तक ना रुको जब तक लक्ष्य न मिल जाएं। "


2• "  अनुशासन,  परिश्रम, ईमानदारी तथा उच्च मानवीय मूल्यों के बिना किसी का जीवन महान नहीं बन सकता है। "


3•  "  जिसके साथ श्रेष्ठ विचार रहते हैं, वह कभी भी अकेला नहीं रह सकता । "


4•  "  आप ईश्वर में तब तक विश्वास नहीं कर पाएंगे जब तक आप अपने आप में विश्वास नहीं करते। "

5•  "  मन की दुर्बलता से अधिक भयंकर और कोई पाप नहीं है। "


6•  " हमारा भय ही पतन और पाप का निश्चित कारण है। "

7•  " ब्रह्माण्ड की सारी शक्तियां पहले से हमारे अन्दर हैं । वो हमीं हैं जो अपनी आँखों पर हाँथ रख लेते हैं और फिर रोते हैं कि कितना अन्धेरा  है। "

8•   " हमारे व्यक्तित्व की उत्पत्ति हमारे विचारों में है।विचार मुख्य हैं, शब्द गौण हैं और विचारों का असर दूर तक होता है। " 


9•  " वस्तुएं बल से छीनी या धन से खरीदी जा सकती हैं, परन्तु ज्ञान केवल अध्ययन से ही प्राप्त किया जा सकता है ।"

10•  " आप को अपने भीतर से ही विकास करना होता है। आपको कोई नहीं सीखा सकता, आपको कोई आध्यात्मिक नहीं बना सकता। आपको सिखाने वाला और कोई नहीं, सिर्फ आपकी आत्मा ही है। "

Comments