Skip to main content

पद्मासन की विधि व उससे लाभ

नमस्कार दोस्तों ! 

अगर आपका मन अशांत है , बेचैन है तो आप इस आसन के द्वारा सिर्फ 5 से 10 मिनट में अपने मन को शांत और एकाग्र कर सकते हैं। यह मेरा अनुभव है। 

पद्मासन को कमलासन भी कहा जाता है। यह मेडिटेशन का सबसे अच्छा और कारगर तरीका है । इसके द्वारा कई शारीरिक विकारों से भी छुटकारा मिलता है। आइए जानते हैं पद्मासन के फायदे और पद्मासन करने की विधि के बारे में।


पद्मासन की विधि : 

1•  श्वास सामान्य रखते हुवे पैरों को सामने फैलाकर किसी स्वच्छ आसन / योगा मैट पर बैठ जाऐं।

2• दाहिने घुटने को मोंड़े , और उसे बाँये जांघ पर इस प्रकार रखें कि पैर की एड़ी उदर को स्पर्श करे।
3•  अब बांयी घुटने को मोंड़े , और उसे दाहिने जांघ पर उसी प्रकार रखें।

(नोट : आप पहले किसी भी घुटने को मोंड़कर रख सकते हैं। )

4•  दोनो हांथो को मुद्रा की स्थिति में घुटनों पर रखें।

5•  रीढ़ की हड्डी और गर्दन सीधी रखें।

6•  अन्त में आँखे बंद कर गहरी सांसे लें और अपना ध्यान उन्ही सांसों पर रखें।



पद्मासन करने से होने वाले फायदे :

1•  पद्मासन के अभ्यास से उत्साह में वृद्धि होती है। स्वभाव में प्रसन्नता आती है।

2•  आधे घण्टे तक बिना कष्ट के पद्मासन में बैठने वाले का मनोबल बहूत बढ़ता है।

3•  यह कम समय में मन को ऐकाग्र करता है।

4•  नियमित रूप से इस आसन को करने से तनाव से छुटकारा पाया जा सकता हैं।

5•  रक्तचाप (Blood pressure) को नियन्त्रित करता है।

6•   इस आसन को करने से जठाराग्नि तेज होती है और भूख लगती है। यानी पाचन क्रिया(digestion) को अच्छी होती है।


दोस्तों !!  इस आसन को करने से इनके अलावा और भी बहुत फायदे हैं। जब आप इसका अभ्यास करना शुरू करेंगे तब खुद आप इसके फायदें महसूस करेंगे।

Comments