उत्तर प्रदेश में बेसिक शिक्षकों का तबादला अब तीन साल पर

आज उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षकों के लिए एक अच्छी खबर आई है , जोकि दैनिक जागरण के समाचार पत्र दिनांक 28 अगस्त 2019 के मुख्य पृष्ठ पर छपी है । इसमें कहा गया है कि उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा परिषद स्कूलों के शिक्षक अब पांच साल की बजाय तीन साल की सेवा पूरी कर लेने पर ही एक जिले से दूसरे जिले में तबादले के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं ।

वही महिला शिक्षकों के अंतर जिला तबादले के लिए सेवा काल का यह समय सीमा 3 वर्ष से घटाकर 1 वर्ष की जाएगी , बस शर्त यह होगी कि शिक्षकों का तबादला उनकी अपनी ग्राम पंचायत के स्कूल में नहीं होगा।

उत्तर प्रदेश सरकार के स्वतंत्र प्रभार बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री डॉ सतीश द्विवेदी जी ने मंगलवार को यह बताया कि अंतर जिला तबादले के लिए विभाग ने नीति तैयार कर ली है जिसे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अपनी सहमति दे दी है।

अंतर जिला तबादले की यह प्रक्रिया पारदर्शी होगी। तबादले के लिए जो पैमाने तय किए जाएंगे , उनमें प्रत्येक के गुणांक निर्धारित होंगे।

अंतर जिला तबादले के लिए शिक्षकों से अक्टूबर में ऑनलाइन आवेदन मांगे जाएंगे जिसका इसका गहन परीक्षण होगा । शिक्षकों को प्राप्त गुणांक और उनकी ओर से दिए गए विकल्पों के आधार पर उनका तबादला किया जाएगा ।

तबादले की प्रक्रिया मार्च तक पूरी कर ली जाएगी ,  जिससे कि अप्रैल में नया शैक्षिक सत्र सुचारू रूप से चल सके।

सैनिकों की शिक्षक पत्नियों , असाध्य रोग से पीड़ित और दिव्यांग शिक्षकों को अंतर जिला तबादले में प्राथमिकता दी जाएगी ।

Comments

Popular posts from this blog

जेट-प्रवाह ( Jet Streams ) क्या है

उत्तर प्रदेश की प्रमुख फसलें कौन-कोन सी हैं

विभिन्न देशों के राष्ट्रीय पशु